शहीद के घर पहुंची सीएम महबूबा लेकिन मीडिया से किया किनारा

Mehbooba Mufti श्रीनगर । सीएम महबूबा मुफ्ती अनंतनाग में आतंकियों के हमले में शहीद हुए अचाबल थाने के SHO फिरोज अहमद धर के घर उनके परिजनों से मिलने पहुंची। आज सुबह महबूबा मुफ्ती अनंतनाग के संगम में शहीद फिरोज अहमद के घर पहुंची और परिवार को सांत्वना दिया। उन्होंने कहा कि हमने एक वीर सपूत को खो दिया है। महबूबा मुफ्ती के साथ PDP के महासचिव और उनके चाचा सरताज मदनी भी थे। महबूबा मुफ्ती शहीद के घर उनके परिजनों से मिलने तो पहुंची लेकिन उन्होंने मीडिया से बात नहीं की।

16 जून को लश्कर आतंकियों के हमले में शहीद हुए थे पुलिसकर्मी

बता दें 16 जून को साउथ कश्मीर के अनंतनाग जिले के थाजीवाड़ा में पुलिस पार्टी पर आतंकियों ने हमला कर दिया था। इस हमले में अचाबल थाने के SHO फिरोज अहमद  धर समेत 6 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी। कई पुलिसकर्मी घायल भी हुए थे। आतंकी संगठन लश्कर ने इस हमले की जिम्मेदारी ली। लश्कर के आतंकियों ने शहीद पुलिसकर्मियों के शव को क्षत विक्षत कर दिया था। दरअसल उसी दिन सुबह में सुरक्षाबलों ने लश्कर के तीन टॉप आतंकी जुनैद मट्टू, नसीर वानी और उसके एक दोस्त आदिल मुस्ताक को मार गिराया था। जिसके बाद बदले की भावना में लश्कर आतंकियों ने पुलिसकर्मियों को निशाना बनाया था।

सरकार के रवैये से पुलिसकर्मियों में भी गुस्सा

 अनंतनाग में हुए इस आतंकी हमले में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को लेकर जम्मू कश्मीर पुलिस में गुस्सा भी है। दरअसल यह गुस्सा राज्य सरकार के रवैये को लेकर है। पुलिसकर्मियों का कहना है कि सरकार पुलिसकर्मियों की मौत पर कोई सख्त कदम नहीं उठा रही है और सिर्फ संयम बरतने की बात कर रही है। बता दें 17 जून को विधानसभा सदन की विशेष सत्र बुलाई गई थी। सदन में सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि हिंसा और युद्ध से कुछ हासिल नहीं होने वाला है। कश्मीर मसले का हल बातचीत से ही संभव है। शहीद पर जवान शहीद हो रहे हैं तो क्या हालात बदल गए। मुफ्ती के इस बयान पर काफी हंगामा भी हुआ था।

loading...
Tags
, ,

RELATED POSTS

© 2016 Dew Media News Broadcasting Private Limited