1993 मुंबई बम ब्लास्ट केसः आज हो सकता है सजा का ऐलान

Mumbai Bomb Blast case
मुंबई। 1993 में मुंबई में हुए सिलसिलेवार बम धमाके मामले में आज टाडा कोर्ट आरोपियों की सजा पर अपना फैसला सुना सकता है। बता दें कि आज से टाडा कोर्ट में 6 आरोपियों की सजा पर सुनवाई शुरु हो गई है। बता दें कि शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई पूरी हुई थी, जिसमें 7 में से 6 आरोपियों को दोषी ठहराया गया था। वहीं एक आरोपी अब्दुल कयूम को अदालत ने बरी कर दिया था।

फांसी की मांग

सीबीआई के वकील दीपक साल्वे ने इस मामले में दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग की है। बता दें कि सभी दोषियों पर हत्या, आपराधिक साजिश रचने और देशद्रोह के आरोप थे। हालांकि देशद्रोह के आरोप अदालत में साबित नहीं हो सके। ऐसे में सभी की निगाहें अब अदालत के फैसले पर लगी हैं।

सलेम ने यूरोपियन कोर्ट का दरवाजा खटखटाया

वहीं मामले में दोषी करार दिए गए अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम ने यूरोपीय यूनियन कोर्ट में याचिका दाखिल कर उसे वापस पुर्तगाल भेजने की गुहार लगायी है। बता दें कि अबू सलेम के पुर्तगाल से प्रत्यार्पण किया गया था। प्रत्यार्पण के वक्त पुर्तगाल ने शर्त रखी थी कि अबू सलेम को फांसी नहीं दी जाएगी। इसी के आधार पर अबू सलेम ने यूरोपीय यूनियन अदालत में याचिका पेश की है।

क्या है सलेम का तर्क

अपनी याचिका में सलेम ने कहा है कि भारत ने उसे फांसी ना देने की शर्त पर प्रत्यर्पित किया था। लेकिन यहां उस पर जो आरोप लगाए गए हैं, उनमें उसे फांसी होने की संभावना है। ऐसे में यह पूरा मामला ही अवैध हो जाता है। इस कारण उसे वापस पुर्तगाल भेजा जाना चाहिए।
loading...
Tags
,

RELATED POSTS

© 2016 Dew Media News Broadcasting Private Limited