राष्ट्रपति चुनावः बीजेपी के दलित कार्ड के क्या हैं मायने

ram nath kovind

नई दिल्ली। राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बीजेपी ने अपना पत्ता खोल दिया है। बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद पार्टी ने NDA उम्मीदवार के तौर पर बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद के लिए नामित किया है। पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने इसका ऐलान किया। दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय में पीएम मोदी, अमित शाह, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू, अनंत सिंह और थावर चंद्र गहलोत समेत तमाम वरिष्ठ नेता प्रत्याशी को लेकर मंथन करते रहे। आखिरकार रामनाथ कोविंद पर सबकी सहमति बनी।

उत्तर प्रदेश से बीजेपी के दलित नेता है रामनाथ कोविंद

रामनाथ कोविंद उत्तर प्रदेश से बीजेपी के दलित नेता हैं जो वर्तमान में बिहार के राज्यपाल हैं। वे दो बार राज्यसभा सांसद रह चुके हैं। पेशे से वे एक सरकारी वकील थे। दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में उन्होंने 16 सालों तक वकालत की है। अगर रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति चुन लिए जाते हैं तो वे उत्तर प्रदेश से दूसरे राष्ट्रपति होंगे।

ram nath kovind
संसदीय बोर्ड की बैठक में लिया गया फैसला

रामनाथ कोविंद के नाम के ऐलान होने तक राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर तमाम नामों पर चर्चा थी। आज जब पार्टी के संसदीय बोर्ड की बैठक शुरू हुई तो सारा दारोमदार अमित शाह पर छोड़ दिया गया। सूत्रों के हवाले से यह भी खबर है कि बैठक के दौरान अमित शाह और पीएम मोदी अलग जाकर भी बातचीत की। खैर जो भी हो यह नाम हर किसी के लिए चौंकाने वाला है।

ram nath kovind

28 जून को नामांकन दाखिल कर सकते हैं रामनाथ कोविंद

बीजेपी सूत्रों के हवाले से खबर है कि 28 जून को राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया जाएगा। पीएम मोदी 24 जून से 27 जून तक अमेरिकी दौरे पर हैं। इसलिए बीजेपी को हर हाल में नाम का ऐलान पीएम मोदी के अमेरिकी दौरे से पहले करना था। अमित शाह ने राजनाथ सिंह, वेंकैया नायडू और अरुण जेटली को विपक्षी दलों के साथ आम सहमति बनाने के लिए लगाया हुआ है। लेकिन नाम का ऐलान नहीं होने की वजह से किसी दल ने समर्थन का आश्वासन नहीं दिया है।

आडवाणी की उम्मीदवारी को लेकर बीजेपी एकमत नहीं

ram nath kovind

तीन पार्टियों ने किया समर्थन का ऐलान

नाम का ऐलान होते ही तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा कि उनकी पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति यानी TRS का समर्थनत NDA के साथ है। रामनाथ कोविंद एक दलित नेता हैं और खुद पीएम मोदी ने मुझे फोन कर समर्थन का अनुरोध किया है। तमिलनाडु की सत्तारूढ़ पार्टी AIADMK और आंध्र प्रदेश की सत्तारूढ़ TDP समर्थन का ऐलान पहले ही कर चुकी है। वाममोर्च ने कहा था कि अगर मंगलवार तक बीजेपी प्रत्याशी का ऐलान नहीं करता है तो विपक्ष अपने प्रत्याशी के नाम का ऐलान कर देगा।

राष्ट्रपति चुनावः भाजपा संसदीय समिति की बैठक आज, ये नाम सबसे आगे

loading...
Tags

RELATED POSTS

© 2016 Dew Media News Broadcasting Private Limited