नाहन के नजारे एक बार देखेंगे, बार बार यहाँ आने का करेगा मन

Nahan

नाहन एक बहुत ही खूबसूरत शहर है। यहाँ स्थित हरे-भरे जंगल एवं बर्फ का चादर ओढे पर्वत श्रृंखलाएं पर्यटकों का मन मोह लेती हैं। बेहतरीन प्राकृतिक नजारे को खुद में समेटे हुए ये शहर हिमाचल प्रदेश के शिवालिक पहाड़ियों पर स्थित है। ऐसा माना जाता है कि नाहन महल आज जहाँ बना हुआ है खड़ा सालो पहले एक संत नाहर रहते थे। “नाहर” जिसका शाब्दिक अर्थ है “मत मारो”।

Nahan

समुद्र तल से करीब 932 मीटर की ऊंचाई पर बसे नाहन में आपके देखने के लिए बहुत कुछ है। यहाँ की यात्रा के दौरान आप सुकेती जीवाश्म पार्क, संबलवारा वर्ल्ड लाइफ सैंचुरी, रेणुका वन्यजीव पार्क आदि कई मनमोहक पर्यटन स्थल हैं। इसके अलावा यहाँ किले, मंदिर, झीलें आदि भी दर्शनीय है। रेणुका झील जो हिमाचल प्रदेश की सबसे विशाल झील है वह 3214 मीटर के भूभाग में स्थित है।

क्यों न इस बार भूटान की यात्रा कर.. देखें यहाँ के खूबसूरत नजारे

Nahan

इसके अलावा नहान में दैनिक गतिविधियों के लिए चौगान, बिक्रम बाग, खादर-का-बाग आदि काफी अच्छी जगह है। साथ ही मंदिर, गिफ्ट शॉप, राल एवं तारपीन के कारखाने आदि यहाँ के प्रमुख आकर्षणों में शुमार हैं। नाहन से करीब 25 किमी के डिस्टेंस पर भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण और हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा निर्मित सुकेती जीवाश्म पार्क है। जीवाश्मों की खोज वाला यह पहला एशिया का पार्क है।

Nahan

मंदिरों में त्रिलोकपुर मंदिर यहाँ बहुत फेमस है जो नाहन के निकट स्थित है। यहाँ देवी महामाया बाल सुन्दरी की आराधना के लिए दूर दूर से लोग आते हैं। मान्यता है कि देवी महामाया ऊर्जा और शक्ति की देवी हैं। यही कारण है कि नवरात्रों के शुभ अवसर पर यहाँ शानदार मेले का आयोजन किया जाता है।

नाहन के धौला कुआँ की यात्रा के दौरान खट्टे फलों एवं आम के ढेरों बाग देख सकते हैं। साथ ही यहाँ एक कारखाना भी स्थित है जहाँ से आप फलों का जूस, अचार, जैम आदि घर ला सकते हैं। धौला कुआँ 5 किमी आगे बढ़ने पर गिरि नगर पड़ता है जिसका नाम गिरि नदी के नाम पर पड़ा है। यहाँ स्थित बिजली घर है जहाँ विद्युत उत्पादन किया जाता है। यहाँ उत्पादित विद्युत का प्रयोग हिमाचल प्रदेश के साथ साथ यूपी एवं पंजाब में भी दिया जाता है।

सोलो ट्रैवलिंग पर जाते समय याद रखें ये 5 बातें…

Tags
,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited