RSS की मांग, ‘बंद हो ताजमहल में नमाज’

Taj Mahal

आगरा। ताजमहल पर पिछले कुछ दिनों से भारत की राजनीति गरमायी हुई है। अब RSS की ओर से आए ताजा बयान ने इसे और भड़काने का काम किया है। दरअसल आरएसएस की इतिहास विंग अखिल भारतीय इतिहास संकलन समिति ने मांग की है कि “ताजमहल में शुक्रवार को होने वाली नमाज बंद हो।”

इतिहास पर संशय

बता दें कि आरएसएस की इतिहास विंग का मानना है कि ताजमहल एक शिवमंदिर था, जिसे एक हिंदू राजा ने बनवाया था। यही कारण है कि अखिल भारतीय इतिहास संकलन समिति की मांग है कि “ताजमहल में नमाज बंद होनी चाहिए।” उन्होंने कहा कि “अगर मुस्लिमों को ताजमहल में नमाज पढ़ने की इजाजत दी जाती है तो हिंदुओं को भी ताजमहल में शिव चालीसा पढ़ने की इजाजत दी जानी चाहिए।”

क्यों जरुरी है मोदी के लिए गुजरात चुनाव

Taj Mahal

शुक्रवार को होती है नमाज

बता दें कि अभी हर शुक्रवार को ताजमहल में नमाज पढ़ी जाती है। इसीलिए शुक्रवार को ताजमहल बंद रहता है। वहीं आरएसएस की इतिहास विंग का यह भी कहना है कि ताजमहल एक राष्ट्रीय संपत्ति है, ऐसे में ताजमहल में नमाज पढ़ने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए।

नीतीश और लालू के आवास पर छठ पर्व की रौनक

बता दें कि ताजमहल पर विवाद तब शुरु हुआ जब योगी सरकार ने अपने पर्यटन स्थलों की सूची से ताजमहल को बाहर कर दिया था। इसके बाद भाजपा विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को भारतीय इतिहास पर धब्बा करार दिया था। जिसके बाद एआईएमआईएम अध्यक्ष औवेसी ने भाजपा पर पलटवार किया था।

Tags
, ,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited