अक्षय-नवमी के दिन होगी हर मनोकामना पूरी

Akshaya Navami

मथुरा-पूरे देश में आज अक्षय-नवमी का पर्व मनाया जा रहा है, जगह-जगह पूजा-अर्चना कर भक्तगण गरीब और असहायों को दान दे रहे हैं। इस पर्व की धार्मिक मान्यता है कि इस दिन जो भी पुण्य कमाया जाता है, उसका कभी क्षय नहीं होता है। इसी धार्मिक मान्यता को ध्यान में रखते हुए भक्तगण इस दिन ज्यादा से ज्यादा पुण्य कमाने का प्रयास करते हैं।

बालार्क सूर्य मंदिर जानें क्यों है ख़ास…

ब्रजभूमि में अक्षय-नवमी के दिन मथुरा-वृन्दावन की युगल-जोड़ी परिक्रमा दी जाती है और परिक्रमा-मार्ग में जगह-जगह मंदिरों में पूजा-अर्चना की जाती है। ब्रज में इस पर्व के साथ एक और आस्था जुड़ी हुई है। चातुर्मास में आने वाले इस पर्व के बारे में ‘बाराह-पुराण’ में उल्लेख है कि इस दौरान ब्रज में तैंतीस करोड़ देवी-देवता वास करते हैं और अक्षय-नवमी के दिन मथुरा-वृन्दावन की परिक्रमा करने से इन सभी देवी-देवताओं की पूजा करने का पुण्य मिलता है। इसी आस्था-भाव को मन में लिए हुए दूर-दूर से आये लाखों भक्तगण नंगे पैर मथुरा-वृन्दावन की परिक्रमा देकर पुण्य की प्राप्ति कर रहे है।

खरना आज, व्रती रखेंगे 36 घंटे का उपवास

Tags
, , ,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited