गुजरात: चुनाव परिणाम से मिला सबक, अब बीजेपी चली गांव की ओर

Mission Village

गुजरात। बीजेपी के गढ़, प्रधानमंत्री मोदी के गृह राज्य में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम चौंकाने वाले थे। बीजेपी जो लगातार पांच बार से गुजरात में सत्ता में थी उसका वोट प्रतिशत ग्रामीण इलाकों में चौंकाने वाला था। इस परिणाम से साफ़ संकेत मिला कि किसानों और छोटे व्यापारियों के बीच बीजेपी का जनाधार और पकड़ कम हो रही है। अपने इस ख़राब प्रदर्शन के बाद बीजेपी ने चिंतन मनन शुरू कर दिया है।

गुजरात: अमित शाह के फ़ोन करने के बाद माने नितिन पटेल

बीजेपी का मिशन गाँव

बीजेपी ने ग्रामीण इलाकों में अपनी छवि सुधारने के लिए अपने ग्रामीण मिशन की शुरुआत करने जा रही है। सरकार बनने के एक हफ्ते बाद ही बीजेपी ने ग्रामीण इलाकों में होने वाले निकाय चुनावों पर नजर लगा दी है। पार्टी की नई रणनीति के मुताबिक अब ग्रामीण इलाकों को ज्यादा तवज्जो दी जाएगी।

गुजरात में शराबबंदी के बाद भी बिक रही शराब, जिग्नेश ने सरकार पर बोला हल्ला

बीजेपी मुख्यालय में हुई बैठक

गौरतलब हो फ़रवरी माह में गुजरात में 75 स्थानीय पालिका और बनासकांठा जिला पंचायत चुनाव होने हैं। बीजेपी ने इसके तहत अपनी रणनीति बना ली है। आगामी निकाय चुनाव को लेकर बीजेपी मुख्यालय में सोमवार को एक बैठक आयोजित की गयी। बैठक में गुजरात बीजेपी अध्यक्ष जीतू वाघानी और संगठन मंत्री वी सतीश, कई जिलों के अध्यक्ष और अन्य कार्यकर्त्ता मौजूद रहे।

ग्रामीण क्षेत्रों के लिए बनाई गई रणनीति

बैठक में निकाय चुनाव को ध्यान में रखते हुए ग्रामीण इलाकों के लिए मजबूत रणनीति तैयार की गयी। हालिया विधानसभा चुनाव में ग्रामीण क्षेत्रों से कम वोट मिलने के बाद से ही बीजेपी अब अपना पूरा ध्यान ग्रामीण इलाकों में लगाने वाली है। बीजेपी भले ही विधानसभा चुनाव में 99 सीट हासिल करके सरकार बनाने में सफल हो गयी है लेकिन ग्रामीण इलाकों में घटे वोट प्रतिशत ने पार्टी की नींद उड़ा दी है।

प्रधानमंत्री को याद आये पुराने दिन, साझा की तस्वीरें

Tags
,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited