गुजरात में रूठने-मनाने का सिलसिला जारी, 14 के बाद हो सकता है कैबिनेट विस्तार!

Gujarat government

गुजरात में बीजेपी की नवगठित सरकार में हर दिन एक नया विवाद खड़ा हो जा रहा है। अभी तक रूठने मनाने का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा। सरकार गठित होने के बाद उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल के रूठने की खबर आ रही थी। उन्होनें बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का फोन आने के बाद अपनी नाराजगी ख़त्म करते हुए अपना पदभार संभाला था। उसके बाद मत्स्य उद्योग मंत्री पुरुषोत्तम सोलंकी के नाराज होने की खबर आई थी। अब खबर आ रही है कि कुछ और विधायक मंत्री ना बनाए जाने से नाराज हैं। यह कहा जा रहा है कि 14 जनवरी के बाद सरकार मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकती है।

गुजरात: चुनाव परिणाम से मिला सबक, अब बीजेपी चली गांव की ओर

पुरुषोत्तम सोलंकी को भी मिला है आश्वासन

हाल ही में नाराज हुए मंत्री पुरुषोत्तम सोलंकी ने मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से बात करने के बाद आश्वस्त हुए। मुख्यमंत्री के भरोसे के बाद उनकी नाराजगी दूर हुई। मुख्यमत्री विजय रुपाणी ने उन्हें 14 जनवरी के बाद मामला सुलझाने का आश्वासन दिया है। कहा जा रहा है कि सोलंकी ने कैबिनेट रैंक की मांग की है। गौरतलब हो पाटीदार नेता और उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल से शहरी और पेट्रोकेमिकल विभाग छिन जाने से नाराज हो गये थे। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के मनाने के बाद उनकी नाराजगी दूर हुई।

गुजरात: अमित शाह के फ़ोन करने के बाद माने नितिन पटेल

चार विधायक मंत्री पद न मिलने से नाराज

सूत्रों से मिली ताजा जानकारी के अनुसार अब बीजेपी के चार विधायक मंत्री पद ना मिलने से नाराज चल रहे हैं। सभी नाराज विधायक सरकार में मंत्री बनने की इच्छा रखते हैं। इन विधायकों में पंचमहल के विधायक जेठा भरवाड भी शामिल हैं। अब उनका कहना है कि वे कोई चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं। उनके क्षेत्र के लोग मांग कर रहे हैं कि उन्हें मंत्री बनाया जाए। जेठा भरवाड ने कहा, ‘मेरे क्षेत्र के लोगों की मांग है कि मुझे मंत्री बनाया जाए, लेकिन बीजेपी के साथ मैं वर्षों से जुड़ा हुआ हूं, मेरी ऐसी कोई मांग नही है।”

गुजरातः सभी मंत्रियों के विभागों का हुआ आवंटन, देखें किसे मिला कौनसा विभाग

Tags
,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited