चंदन के परिजनों को 20 लाख का चेक देने पहुंचे डीएम व विधायक

Kasganj

गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान हिंसा में जान गंवा देने वाले चंदन गुप्ता के घर पर आज डीएम आरपी सिंह के साथ अमापुर के विधायक देवेंद्र सिंह बीस लाख रुपए का चेक देने पहुंचे। इस दौरान जिला प्रशासन तथा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी हुई साथ ही लोगों ने इनका जोरदार विरोध किया।

कासगंज में तनाव के बीच शांति, 112 लोग गिरफ्तार

दरअसल, मुख्यमंत्री योग आदित्यनाथ की घोषणा के मुताबिक मृतक चंदन गुप्‍ता के परिजनों को बीस लाख का चेक देने पहुंचे थे। लेकिन डीएम आरपी सिंह और अमापुर के विधायक देवेंद्र सिंह को भारी आक्रोश का सामना करना पड़ा। इस दौरान परिजनों ने स्पष्ट कहा कि चेक नहीं चंदन चाहिए। आक्रोश का आलम यह था कि परिजन और पड़ोसियों ने डीएम से यहां तक कहा कि हम आपको एकत्र करके 25 लाख रुपये दे देते है, आप हमें हमारा चंदन लौटा दो। बड़ी मुश्किल से परिजनों ने चेक स्वीकारा था लेकिन चंदन की बहन ने अपने पिता सुशील गुप्ता को ही चेतावनी दे डाली कि अगर इस चेक को खाते में डाला तो वह आत्महत्या कर लेगी।

बता दें कि, परिजनों ने डीएम के सामने चंदन को शहीद का दर्जा देने की मांग की साथ ही दो और मांग रखीं, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुलाने और दोषियों पर सख्त कार्रवाई भी शामिल है। चंदन के पिता ने तीनों मांगें न माने जाने पर अनशन और आत्मदाह की धमकी दी है। वहीं, चंदन की मां घटना के चार दिन बाद भी सदमे से नहीं उबर पाई है, वे आज भी उस तिरंगे को अपनी छाती से लगाए बैठी हैं जिसे शवयात्रा के दौरान चंदन के शव पर उढाया गया था।

MP: अल्पसंख्यकों की रैली में फहराया गया ‘पाकिस्तान जैसा झंडा’

Tags
, , ,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited