महिलाओं पर नहीं चल सकता रेप और छेड़छाड़ का केस: SC

rape

दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को वकील ऋषि मल्होत्रा की उस याचिका को खारिज कर दिया है जिसमें महिलाओं को भी पुरुषों की तरह रेप के मामले में सजा देने की मांग की गई थी। उनका मानना है कि पुरुष भी रेप और यौन उत्पीड़ित हो सकते हैं।

up पुलिस ने 24 घंटे में किए चार बड़े एनकाउंटर, एक बदमाश ढेर, कई गिरफ्तार

पूरा मामला
मालूम हो की इस याचिका के खारिज होने के बाद भी फिलहाल शीर्ष अदालत में ऐसी ही एक और याचिका लंबित है। इस याचिका में कहा गया है कि समलैंगिकता को अपराध के दायरे से बाहर किया जाए और दूसरा यह कि सभी यौन अपराधों को लैंगिक-तटस्थता के आधार पर देखा जाए।

24 सर्जरी के बाद बांग्लादेशी ‘ट्री मैन’ के हाथों में फिर से उगे पेड़

इन्होंने दायर की थी ये याचिका

वकील ऋषि मल्होत्रा की ओर से दायर याचिका में प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली पीठ ने कहा- भारतीय दंड संहिता कानून में यह प्रावधान महिलाओं को सुरक्षित रखने के लिए लिहाज से किए गए हैं। जबकि, पोस्को की धारा लैंगिक समानता के आधार पर बनाया गया है जिसमें 18 वर्ष से कम आयु के बच्चे शामिल हैं।

Tags
, ,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited