वकील ने नारी को बताया नरक का द्वार, कोर्ट ने लगे फटकार

Baba Virendra Devs

 

‘आध्यात्मिक विश्वविद्यालय’ में लड़कियों के यौन शोषण मामले में फंसे बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के वकील ने सोमवार को हुई सुनवाई में ऐसा तर्क दिया जिससे नाराज होकर कोर्ट ने न्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया। वकील ने नारी को नरक का द्वार बताया था जिसके बाद वकील को फटकार भी लगी।

नारी नरक का द्वार

दरअसल, राष्ट्रीय राजधानी के एक आश्रम में महिलाओं और लड़कियों को कथित रूप से कैद रखने वाले वीरेंद्र देव दीक्षित को सुनवाई के लिए सोमवार को कोर्ट में पेश होना था लेकिन वो कोर्ट में नहीं पहुंचा। बाबा की तरफ से पेश वकील से कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति गीता मित्तल और सी. हरीशंकर की पीठ ने आश्रम के अधिवक्ता से आश्रम में औरतों और लड़कियों को बंधक बना कर रखने पर स्पष्टीकरण मांगा था। वकील ने तर्क दिया था कि-‘नारी नरक का द्वार होती है, इसीलिए हम लड़कियों को आश्रम में कैद करके रखते हैं।’ इस तर्क पर कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल ने वकील को डांटते हुए कहा, ‘चुप रहिए, जरा जबान संभाल कर बोलिए। ये कोर्ट है, आपकी आध्यात्मिक क्लास नहीं जहां प्रवचन दे रहे हैं। आप कौन से युग में रहते हैं।’

भगवन कर रहे हैं विश्वविद्यालय का संचालन

वकील ने यह भी कहा कि, हम न तो कोई सोसायटी हैं और न ही हमारे ऊपर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग या किसी अन्य संस्था का आदेश लागू होता है, क्योंकि हम कोई डिग्री या डिप्लोमा नहीं देते हैं। इस पर हाई कोर्ट ने पूछा-आखिर यह विश्वविद्यालय कैसे कहलाता है? इस पर वकील ने जवाब देते हुए कहा कि चूंकि इस आश्रम का संचालन खुद भगवान कर रहे हैं, इस नाते यह विश्वविद्यालय कहलाता है। इस तरह के बयान वकील से सुनकर जज सहित कोर्ट में मौजूद बाकि लोग भी चौंक गये। बहरहाल, पीठ ने आश्रम द्वारा विश्वविद्यालय का नाम इस्तेमाल करने पर रोक लगाने का आदेश नहीं दिया क्योंकि आश्रम के वकील ने कहा कि आदेश देने से पहले उन्हें सुना जाए।

‘दो वयस्कों की शादी में कोई तीसरा दखल नहीं दे सकता’: ऑनर किलिंग पर सुप्रीम कोर्ट

लुक आउट नोटिस जारी

उधर, सीबीआई ने दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया कि राष्ट्रीय राजधानी के एक आश्रम में महिलाओं और लड़कियों को कथित रूप से कैद रखने वाले वीरेंद्र देव दीक्षित के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर (एलओसी) जारी किया गया है। सीबीआई ने कहा कि फरार बाबा को पकड़ने के लिए हर तरफ निगरानी की जा रही है और जल्द ही बाबा को पकड़ लिया जायेगा।

8 महीने की बच्‍ची से रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर की

, , ,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited