मालदीव संकट: भारत करेगा SoP का पालन, SC ने लिया आदेश वापस

MaldiveMaldive

माले : भारत के पडोसी देश मालदीव में राजनीतिक संकट के बीच मालदीव रष्ट्रपति ने इमरजेंसी लगाई है। अब भारत सरकार ने संकेत दिए हैं कि वह इस मामले में मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन कर सकता है, जिसमें सेना को तैयार रखना शामिल है। बता दें कि मालदीव में पैदा हुए संकट पर भारत ने पहले ही एसओपी के तहत यात्रा परामर्श जारी कर चुका है अब इसमें अधिकारियों ने सेना को तैयार रखने से जुड़े अहम पहलू की पुष्टि भी कर दी है।

क्या होता है एसओपी ?

सूत्रों ने कहा कि, एसओपी के मुताबिक, किसी आकस्मिक स्थिति या संकट से निपटने के लिए सैनिकों को पूरी तरह तैयार रखा जाता है। ऐसे एसओपी में कुछ भी असामान्य नहीं होता। बता दें कि, मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने इस मामले में भारत से दखल की अपील की थी। इमरजेंसी लगने के बाद मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद को गिरफ्तार कर लिया गया।

मालदीव में इमरजेंसी, पूर्व राष्ट्रपति और चीफ जस्टिस गिरफ्तार

सुप्रीम कोर्ट ने लिया आदेश वापस

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश को ना मानते हुए मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल्ला यमीन ने देश में आपातकाल लागू कर दिया है। यहां तक कि सुप्रीम कोर्ट के 2 जजों को भी गिरफ्तार कर लिया है। देर रात हुए घटनाक्रम के तहत शेष तीन जजों वाली सुप्रीम कोर्ट ने नौ हाईप्रोफाइल राजनीतिक कैदियों के रिहाई के आदेश को वापस ले लिया है।

मालदीव ने बताया भारत ‘सबसे बड़ा दुश्मन’, ‘PM मोदी मुस्लिम विरोधी’

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited