13 फरवरी को महाशिवरात्रि, शिव के साथ हनुमान जी की भी होगी कृपा

Mahashivratri

भगवान शिव को समर्पित महाशिवरात्रि का महापर्व फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी मंगलवार को यानि की 13 जनवरी को पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाया जाएगा। आज देर रात वाराणसी में करीब 2:30 बजे मंगला आरती के बाद दर्शन-पूजन शुरु हो जाएगा।

महाशिवरात्रि 13 को है या 14 को इसे लेकर लोग असमंजस में हैं। वहीं, पंडितों का मानना है कि मंगलवार को पूरे दिन त्रयोदशी रहेगी और रात 10:37 बजे चतुर्दशी तिथि आ जाएगी। त्रयोदशी व चतुर्दशी तिथि जिस रात्रि को होती हैं उसी दिन शिव रात्री मनाने का विधान हैं इसीलिए मंगलवार को ही महाशिवरात्रि होगी व लोग उपवास करेंगे। ज्योतिषाचार्य के अनुसार चार प्रहर की पूजा भी मंगलवार को ही सम्पन्न होगी। 13 फरवरी को महाशिवरात्रि व्रत करने से भौम प्रदोष के व्रत का भी पुण्य प्राप्त होगा और मंगलवार के व्रत का भी। यानी शिव के साथ हनुमान जी की भी कृपा प्राप्त होगी। पंडितों के अनुसार सामान्यतः चतुर्दशी तिथि 13 फरवरी को रात्रि 10:37 से शुरू होकर 14 फरवरी को 12:17 तक रहेगी। अतः 14 को पूर्ण महानिशीथकाल उपलब्ध नहीं होगा। महा निशीथकाल में की गई शिव पूजा ही श्रेष्ठ मानी जाती है. हालांकि कावंड़ जल चढ़ाने और व्रत रखने के लिए 13 और 14 दोनों तारीखें शुभ हैं।

Tags
,

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited