नोटबंदी के बावजूद भारत की विकास दर 7% कायम

GDP

नई दिल्ली। वर्ल्ड बैंक ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि भारत की अर्थव्यवस्था नोटबंदी के बावजूद 7% की दर से विकास करेगी। साथ ही आने वाले वर्षों में यह 7.6-7.8% तक पहुंच सकती है।

जल्द ही 7.6-7.8% होने का अनुमान

बता दें कि नोटबंदी के बाद भारत की विकास दर में गिरावट आयी है, लेकिन अभी भी यह 7% की दर से आगे बढ़ रही है। जिसके जल्द ही 7.6-7.8% होने की उम्मीद है। वर्ल्ड बैंक ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि तेल की कीमतों में कमी और कृषि उत्पादों में वृद्धि के बाद नोटबंदी का अर्थव्यवस्था पर हुआ प्रभाव काफी हद तक कम हो जाएगा।

वर्ल्ड बैंक ने सरकार के प्रयासों को सराहा

बता दें कि भारत 7% की विकास दर के साथ अभी भी दुनिया का सबसे तेज गति से विकास करने वाला देश बना हुआ है। वहीं वर्ल्ड बैंक ने सरकार द्वारा शुरु किए गए विभिन्न आर्थिक सुधारों की तारीफ करते हुए कहा कि इससे देश में उत्पादकता बढ़ेगी, बुनियादी ढांचे में सुधार आने से निवेश में वृद्धि होगी।

नोटबंदी का श्रम सुधारों पर पड़ सकता है विपरीत असर

वहीं वर्ल्ड बैंक ने अपनी रिपोर्ट में नोटबंदी के कारण जीएसटी और श्रम सुधार जैसे अन्य नीतिगत आर्थिक सुधारों के धीमा पड़ने का खतरा भी जताया है।

Tags

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited