सरकारी पैसे से नहीं आती हैं मोदी की पोशाकें, RTI में मिला जवाब

RTIप्रधानमंत्री बनने के बाद से नरेंद्र मोदी का एक सूट काफी विवादों में रहा। पीएम मोदी के इस बंद गले वाले सूट में उनका पूरा नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी भी लिखा हुआ था।

आरटीआई में मिला जवाब

RTI के जरिए देश के प्रधानमंत्रियों द्वारा कपड़ों पर खर्च की जाने वाली रकम को लेकर जानकारी मिली है PM कार्यालय की तरफ से दी गई जानकारी में कहा गया है कि पीएम मोदी के निजी कपड़ों पर होने वाला खर्च पीएम अपनी सैलरी से ही उठाते हैं। इसके लिए सरकारी कार्यालय की तरफ से कोई रकम खर्च नहीं की जाती है।

राज्य सरकार ने अत्यधिक ठण्ड एवं शीतलहरी से बचाव हेतु जारी की धनराशी

रोहित सब्बरवाल मांगी थी सूचना

RTI कार्यकर्ता रोहित सब्बरवाल ने सूचना के अधिकार के तहत यह जानकारी मांगी थी। पीएमओ ने कहा कि पीएम के निजी कपड़ों पर खर्च किए जाने वाले पैसे सरकार की जेब से नहीं जाते। रोहित सभरवाल ने इसपर प्रतिक्रिया दी की अब यह विवाद हमेशा के लिए खत्म होता है कि भारत सरकार प्रधानमंत्रियों के कपड़े पर भारी भरकम रकम खर्च करती है।

भ्रम दूसर करना था मकसद

सूचना के अधिकार के तहत इस जवाब के बाद आरटीआई कार्यकर्ता सब्बरवाल ने कहा, ‘बहुत से लोगों को अब तक ऐसा लगता है कि पीएम मोदी के कपड़ों पर सरकारी खजाने से बड़ी रकम खर्च की गई है। आरटीआई से मिली जानकारी से लोगों का यह भ्रम दूर होगा।

आसमान से अब भारत की चीन-PAK की चालबाजियों पर होगी 24 घंटे नजर

Tags

RELATED POSTS

© 2017 Dew Media News Broadcasting Private Limited